सेराज अनवर

प्रश्न:किस एजेंडे पर चुनाव लड़ रहे हैं?
उत्तर:विकास, साम्प्रदायिक सौहार्द, रेल सुविधा, चीनी मिल चालू कराना हमारा प्रमुख एजेंडा है.सीतामढ़ी मां सीता की जन्मस्थली है, हमारा प्रयास होगा यहां से सीधे अयोध्या के लिए रेल-सेवा प्रदान की जाये.


प्रश्न:आपका तो अपना चेहरा ही काफी है, किसके चेहरे पर आप चुनाव लड़ रहे हैं, नरेन्द्र मोदी या नीतीश कुमार?

उत्तर:नीतीश कुमार और नरेन्द्र मोदी दोनों के चेहरे पर चुनाव लड़ रहा हूं. यह बिहार का नहीं लोकसभा का चुनाव है. ज़ाहिर सी बात है राष्ट्र स्तर पर नरेन्द्र मोदी का ही चेहरा है. बिहार में नीतीश कुमार हैं. जहां तक हमारे चेहरे की बात है, हमने कभी भी जात-पात, धर्म पूछकर काम नहीं किया. कठिन घड़ी में सबके लिए खड़ा रहा हूं. विधान परिषद के बाहर-अंदर भी काम किया, सबके लिए किया. विकास कार्यों के साथ शहीदों की प्रतिमा लगायी.

प्रश्न:आप संवैधानिक पद पर हैं, विधान परिषद के सभापति हैं. फिर लोकसभा चुनाव लड़ने की ज़रूरत क्या थी?

उत्तर:शुरू से लोकसभा चुनाव लड़ना चाहता था. इस बार मौक़ा मिल गया तो ख़ुशी हुई. मज़बूती से चुनाव लड़ रहा हूं.


प्रश्न :जदयू ने आपकी उम्मीदवारी का ऐलान सबसे पहले किया,उस वक़्त जदयू इंडिया गठबंधन में शामिल था.एनडीए में आना पहले से तय था?

उत्तर:नहीं, कुछ तय नहीं था, परिस्थिति ऐसी बनी कि फिर से एनडीए में आना पड़ा. यह मेरा सौभाग्य है कि मेरी उम्मीदवारी पहले तय हुई और हम अपनी पार्टी को मायूस नहीं करेंगे.


प्रश्न:मुसलमानों पर कितना भरोसा है आपको?

उत्तर:बिहार में किसी जदयू उम्मीदवार को उतना वोट नहीं मिलेगा, जितना अधिक वोट मुसलमानों का मुझे मिलेगा. मुसलमान हमसे प्यार करते हैं और हम भी उनका सम्मान करते हैं. हमारा उनसे व्यक्तिगत सम्बन्ध है. यक़ीनी तौर पर राजद का कथित माय समीकरण यहां टूट चुका है, आप देखेंगे. मुसलमान अब सारी बात समझ रहे, सुन रहे हैं. उन्हें सिर्फ जज़्बात से ठगा गया है. मैं सबका प्रतिनिधि हूं. सबका काम करता हूं. हर जाति का मुझे वोट मिलेगा, यादव भाईयों का भी.

By admin

3 thoughts on “एक मुलाक़ात सीतामढ़ी के जदयू प्रत्याशी देवेश चन्द्र ठाकुर के साथ”

Leave a Reply

Your email address will not be published.