सेराज अनवर


प्रश्न:लालू प्रसाद से असद उद्दीन ओवैसी ग़ुस्से में क्यों है?कहा:मैं आ रहा हूं तुम्हारी बेटी के ख़िलाफ़ प्रचार करने?

उत्तर:ग़ुस्से में नहीं हैं.बा-ज़मीर इंसान जिसका ज़मीर ज़िन्दा है.उसको ग़ुस्सा आना इंसानी फ़ितरत है.लालू जी ने हमारी पार्टी के साथ हरकत ही ऐसी की.ऐन मतदान के दिन मेरे ख़िलाफ़ वीडिओ जारी किया.ओवैसी साहब इस बात से खफ़ा हैं.

प्रश्न:ओवैसी साहब ने शाहनवाज़ को ग़द्दार कहा था.आपके चार विधायक को तोड़ दिया था.अररिया में आपने उम्मीदवार नहीं दिया.राजद प्रत्याशी शाहनवाज़ को सेफ पैसेज क्यों दिया?

उत्तर:मरहूम तस्लीम उद्दीन साहब के प्रति ओवैसी साहब अपने दिल में हमेशा एहतराम का जज़्बा रखते हैं.उसी की यह कड़ी थी कि उनके बेटे शाहनवाज़ के विरुद्ध हमारी पार्टी ने उम्मीदवार नहीं उतारे.

प्रश्न:सीमांचाल AIMIM का गढ़ माना जाता है,चार में सिर्फ एक सीट पर चुनाव क्यों लड़ें?

उत्तर:राज्य कमिटी की बैठक में यह फैसला लिया गया कि किशनगंज का चुनाव हमारे लिए अहम है इसलिए इस पर केन्द्रित किया जाये.अन्य सीटों पर चुनाव लड़ने से ताक़त बंट जाती.हम ख़ुद चुनाव लड़ रहे थे.पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते उन सीटों पर हमारी मौजूदगी ज़रूरी होती जहां हमारे उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे होते.इस वजह कर हम सीमांचल की एक सीट पर लड़े.

प्रश्न:आपकी जीत की कितना सम्भावना है?

उत्तर:मतदान के बाद जो खबरें आ रही हैं वह इत्मिनानबख्श है.पिछले चुनाव के मुक़ाबले इस बार हमारा बूथ मैनेजमेंट बेहतर था.हम इंशाल्लाह जीतेंगे.

प्रश्न:AIMIM को आम तौर पर मुस्लिम पार्टी समझी जाती है,ग़ैरमुस्लिम उम्मीदवार भी आपने उतारे हैं?


उत्तर:यह उन लोगों के मुंह पर तमाचा है जो इस तरह के आरोप लगाते हैं.बिहार की 8 सीट में 4 पर हिन्दू उम्मीदवार हमारे मज़बूती से चुनाव लड़ रहे हैं.अब इल्ज़ाम लगाने वालों को जवाब नहीं बन पा रहा है.

प्रश्न:उपेन्द्र कुशवाहा के ख़िलाफ़ काराकाट में भी आपने उम्मीदवार दे दिया,कभी वह आपके गठबंधन का मुख्यमंत्री चेहरा थे.फिर गठबंधन से निकल गये उसी का रि-एक्शन है?


उत्तर:उसका रि-एक्शन नहीं है.वहां हमारी पार्टी को दलित-मुसलमानों का समर्थन है.इसको देख कर ही काराकाट से चुनाव लड़ने का फैसला किया गया.जहां उम्मीदवार मिल रहा है वहां हम चुनाव लड़ रहे हैं.

प्रश्न:लालू की बेटी के ख़िलाफ़ भी उम्मीदवार दिया?

उत्तर:हम उनकी बेटी के ख़िलाफ़ नहीं हैं.जहां हमारी पार्टी की सम्भावना है वहां चुनाव लड़ रहे.पाटलिपुत्र में हमारा तगड़ा उम्मीदवार है.सारण में हमने उम्मीदवार नहीं दिया.वहां लालू की दूसरी बेटी चुनाव लड़ रही है.

प्रश्न:अली अशरफ़ फ़ातमी के ख़िलाफ़ मधुबनी में भी आपने उम्मीदवार दे दिया?


उत्तर:कल तक फ़ातमी कहां थे.भाजपा गठबंधन के साथ.जदयू ने टिकट नहीं दिया तो राजद में आ गये.जब नीतीश कुमार महागठबंधन से नाता तोड़ कर भाजपा के साथ आ गये तब फ़ातमी साहब ने जदयू से इस्तीफ़ा क्यों नहीं दिया था.उनके बेटे फराज़ किस गठबंधन में चुनाव लड़ कर विधायक बने थे?फ़ातमी साहब धर्मनिरपेक्षता की बात नहीं कर सकते हैं.

By admin

3 thoughts on “एक मुलाक़ात AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष अख़्तरुल ईमान के साथ”

Leave a Reply

Your email address will not be published.