जदयू प्रदेश कमिटी के महासचिव मेजर इक़बाल हैदर खान मुसलमानों को लेकर पार्टी की ओर से ज़बरदस्त बैटिंग कर रहे हैं.वह अल्पसंख्यक समाज को आजकल समझाने में लगे हैं कि उनकी तरक़्क़ी के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने क्या-क्या न किया.

शमीम अख़्तर

SITAMADHI:जदयू प्रदेश कमिटी के महासचिव मेजर इक़बाल हैदर खान मुसलमानों को लेकर पार्टी की ओर से ज़बरदस्त बैटिंग कर रहे हैं.वह अल्पसंख्यक समाज को आजकल समझाने में लगे हैं कि उनकी तरक़्क़ी के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने क्या-क्या न किया.तालीम से तरक़्क़ी तक की यात्रा में अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक लोन को आसान बनाया,आमजन तक पहुंचाया तो दूसरी तरफ़ तालिमी मरकज क़ायम कर कमज़ोर तबक़ा को तालीम से जोड़ने का काम किया.मेजर यहां जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की एक बैठक को सम्बोधित कर रहे थे. जिला जनता दल यू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की”सांगठनिक समीक्षा बैठक”राजोपट्टी इंडिया गेस्ट हाउस के सभागार में नवमनोनीत अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष मो. इंजीनियर शकीलउर रहमान अंसारी की अध्यक्षता में संपन्न हुई. बैठक के मुख्य अतिथि विधायक पंकज कुमार मिश्रा, जिला जदयू संगठन प्रभारी मेजर इकबाल हैदर खान,जिला जदयू अध्यक्ष सत्येंद्र सिंह कुशवाहा एवं पूर्व विधायक मोहम्मद खलील अंसारी थे.

क्या बोले मेजर इक़बाल?

जिला जदयू संगठन प्रभारी मेजर इकबाल हैदर खान ने कहा कि अल्पसंख्यक समाज की तरक्की,विकास एवं तालीम के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वचनबद्ध एवं कटिबद्ध हैं.पंचायती राज एवं नगर निकाय के चुनाव में पसमांदा समाज को आरक्षण देकर सत्ता में हिस्सेदारी एवं भागीदारी देने का उन्होंने काम किया.वहीं दूसरी ओर मदरसा शिक्षकों को समान काम- समान वेतन, तालिमी मरकज लागू करके समाज के कमजोर एवं गरीब तबके के लोगों को तालीम से जोड़ने का भी काम किया गया.बिहार के प्रत्येक जिले में बहुउद्देशीय भवन, रोजगार ऋण , अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक लोन, कब्रिस्तान की घेराबंदी जैसे सैकड़ों काम किये गये जिसकी नज़ीर पहले कभी नहीं मिलती.

विधायक बोले अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ को करें मज़बूत

बैठक को संबोधित करते हुए विधायक पंकज कुमार मिश्रा ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सामाजिक सद्भाव एवं समावेशी विकास के प्रतीक हैं .उनके विकास में धार्मिक एवं जातीय भेदभाव नहीं रहा है. अल्पसंख्यक साथियों से आग्रह है कि सीतामढ़ी जिला अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ को जिला प्रखंड एवं पंचायत स्तर पर मजबूत करने का संकल्प लें.जिला जदयू अध्यक्ष सत्येंद्र सिंह कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार के 17 वर्षों के कार्यकाल में एक भी धार्मिक एवं जातीय उन्माद नहीं हुआ है .बल्कि वर्ष 2005 से पूर्व की सरकार धार्मिक एवं जातीय भावना को उभार कर 15 वर्षों तक शासन किया लेकिन अल्पसंख्यक समाज को केवल वोटर के रूप में इस्तेमाल किया.17 वर्षों के शासनकाल में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यक समाज के तकदीर और तस्वीर बदलने का काम किया है.साथ ही श्री कुशवाहा ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के 17 वर्षों के किए हुए कार्यों को गांव- गांव एवं जन- जन तक पहुंचाने के संकल्प के साथ आज हमें संकल्पित होकर जाना है.

ये भी रहे शामिल


पूर्व विधायक मोहम्मद खलील अंसारी ने संबोधित करते हुए कहा कि जिला जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ, सीतामढ़ी संगठन को धारदार एवं मजबूत बनाने के लिए आप सभी साथियों को संकल्पित होकर नीतीश कुमार के हाथों को मजबूत करना होगा साथ ही जिला अध्यक्ष मो. रहमान के नेतृत्व में 17 प्रखंडों का दौरा कर संगठन को मजबूत बनाने का कार्य करें.मुझे आशा ही नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास है कि आप साथियों के सहयोग से सीतामढ़ी संगठन बिहार में अव्वल रहेगा.बैठक को संबोधित करने वाले प्रमुख नेताओं में मो. आजम खान,मो.शादाब अहमद खान, मो.जुनेद, मो.संजिर आलम मंसूरी, मोहम्मद वली अहमद, मोहम्मद असरार, मो.मुफीद बाजपट्टी, मोहम्मद सोहेल अरमान बेलसंड, मोहम्मद अंसारुल चोरौत, मोहम्मद रहमान परसौनी, मोहम्मद अमीरउल अंसारी ,मोहम्मद बशारत अली करीम, अंजू शाह, सुजीत कुमार सिंह,धीरेंद्र कुंवर, विजय कुमार ,सुबोध भगत, युवा जदयू निवर्तमान जिला अध्यक्ष अमित कुमार सहाय, सहित दर्जनों ने संबोधित किया तथा सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने संगठन को मजबूत एवं धारदार बनाने का संकल्प लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.