मधुबनी/करीमुल्लाह


बाढ़-अतिवृष्टि से उतपन्न भयावह स्थिति एवं जिले के ग्रामीण परिवेश में सड़क निर्माण के समय संवेदक द्वारा मनमानी मिट्टी काटने से विभिन्न जगहों पर भयंकर गड्ढा खोदकर वैसे ही छोड़ देने से जलजमाव है .जलजमाव के कारण जिले के बिस्फी , बेनीपट्टी एवं रहिका प्रखंड में डूबने से तीन किशोर की मृत्यु हो गई .सड़क निर्माण में विभाग की लापरवाही के कारण एक दर्जन से भी ज्यादा बच्चों का डूबने से मृत्यु हुई है .दुख की बात यह है कि आज तक पीड़ितों को सरकारी तौर पर मुआवजा नहीं मिला है .
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मधुबनी के तरफ से पार्टी जिला मंत्री मिथिलेश झा के नेतृत्व में बिस्फी के प्रभावित विभिन्न पंचायतों का दौरा करते हुए पीड़ितों से मिलकर उन्हें आश्वासन दिया गया कि सभी उचित सहायता उपलब्ध करने के लिए जिला पदाधिकारी को पार्टी की तरफ से ज्ञापन दिया जाएगा .
पत्रकारों एवं मृतक के परिजनों से बात करते हुए जिला मंत्री मिथिलेश झा ने कहा लगभग दो महीने से जिले के लोग प्राकृतिक आपदा जैसे यास तूफान अतिवृष्टि एवं बाढ़ से त्रस्त है .सरकारी तंत्र बाढ़ एवं आपदा में पूर्व तैयारी के नाम पर भ्रमण एवं बैठके कर रहे है लेकिन इस भ्रष्ट तंत्र से आमलोगों को लाभ मिलने का उम्मीद नहीं है .
दूसरी तरफ कोरोना संकट में परेशान लोगों के लिए टीकाकरण केंद्र पर टिका उपलब्ध नहीं रहने से लोग परेशान है .स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन से भाकपा मांग करती है कि जिले के विभिन्न केंद्रों पर नियमित टिका का व्यवस्था सुनिश्चित करें .साथ ही शर्प दंश एवं डूबने से हुए मृतकों के परिवार को 4 लाख प्रत्येक का भुगतान किया जाय .पानी से नष्ट फसलों एवं बिचड़ा के अभाव में किसानों का हुए नुकसान का मुआवजा देने हेतु सर्वेक्षण करवाने का अविलम्ब घोषणा की जाये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *