गया/मंथन डेस्क

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंगलवार को मानपुर प्रखंड के अबग‍िला में बन रहे वाटर ट्रीटमेंट प्‍लांट का निरीक्षण करने पहुंचे.उन्‍होंने फल्‍गु नदी के देवघाट में बन रहे रबर डैम का जायजा भी लिया.मुख्‍यमंत्री के कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम किए गए. साल 2020 में मुख्‍यमंत्री बनने के बाद नीतीश कुमार पहली बार गया पहुंचे.इसके पहले मुख्‍यमंत्री ने राजगीर में विभिन्‍न विकास योजनाओं का जायजा लिया.फिर, सड़क मार्ग से गया पहुंचे.मुख्यमंत्री के गया दौरे में जदयू एमएलसी मनोरमा देवी भी मौजूद थीं.वह नीतीश कुमार के दौरे पर साथ-साथ रहीं.

मनोरमा देवी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ

मालूम हो कि गंगा जल उद्वह योजना मुख्‍यमंत्री की महत्‍वाकांक्षी योजना है. वहां गंगा जल को शुद्ध करने के लिए वाटर ट्रीटमेंट का निर्माण हो रहा है.काम करीब 70 फीसद पूर्ण हो गया है.मोहरा प्रखंड के तेतर में रिजर्वायर बनाया गया है.उधर फल्‍गु नदी में बन रहे रबर डैम में पानी का ठहराव होगा.इससे पिंडदानियों को सालभर तर्पण के लिए गंगा जल उपलब्‍ध हो सकेगा.बता दें कि बेगूसराय के मराची से पाइपलाइन के सहारे गया तक गंगा का पानी लाया जाना है.पाइपलाइन की लंबाई करीब 149 किलोमीटर है.यह बेगूसराय के मराची से मोकामा, सरमेरा, बरबीघा, शेखोपुरसराय, कतरीससराय, घोड़ा कटोरा होते हुए अबगिला पहाड़ी तक पहुंचेगी.मनोरमा देवी का कहना है कि नीतीश सरकार के इस बहुआयामी योजना से गया शहरवासियों को मार्च 2022 तक गंगा का पानी पेयजल के रूप में मिल सकेगा.ऐसे में पेयजल संकट की समस्‍या दूर हो जाएगी.मुख्‍यमंत्री इस योजना को लेकर काफी गंभीर हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *