आरा/मनीष

विधान पार्षद सह राजद अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष प्रो. रामबली सिंह चंद्रवंशी भोजपुर ज़िला अंतर्गत पीरो थाना के मोथी गाँव पहुँच मृतक शोभा देवी के परिजनों से मुलाक़ात की और घटना की जानकारी ली। मौक़े पर उन्होंने परिजनों से बातचीत कर हर मसले को गंभीरता से जाना। उनके परिजनों ने बताया की पीरो थाना की पुलिस द्वारा शोभा देवी को पूछताछ के लिए थाना ले जाया गया था जहां उन्हें बेरहमी से मारा पीटा गया जिसके बाद उनकी मौत हो गयी और प्रशासन के द्वारा उसे आत्महत्या बताया जा रहा है। उनके बेटे प्रकाश कुमार को भी पुलिस द्वारा थाना के अंदर मारा गया। उक्त घटना की जानकारी लेने के बाद राजद एम॰एल॰सी॰ ने कहा कि यह एक अति संवेदनशील मामला है। इस घटना की जितनी भी निंदा की जाये वो कम है। परिजनों से मिलने के उपरांत राजद का यह जाँच दल ज़िला प्रधान कार्यालय पहुँचा जहां प्रेस-वार्ता आयोजित की गयी।

प्रेस को संबोधित करते हुए विधान पार्षद प्रो. रामबली सिंह चंद्रवंशी ने कहा की सूबे के मुखिया को जब जनता ने नकार दिया है तो अब अफ़सरों के बल पर सरकार चलाई जा रही है। अफ़सरशाही चरम पर है। पीरो थाना की यह घटना अमानवीय घटना है। पुलिस प्रशासन के ऊपर से जनता का विश्वास उठ चुका है। उन्होंने बिहार के डी॰जी॰पी॰ से यह माँग की है कि भोजपुर एस॰पी॰ एवं उनके पीरो थाना के अधिकारी एवं उक्त घटना में संलिप्त सभी दोषी पुलिसकर्मियों के ऊपर धारा 302 के तहत मुक़दमा दायर हो। साथ ही थाना परिसर का सी॰सी॰टी॰वी॰ फ़ुटेज का जाँच हो।

उनके साथ जगदीशपुर के विधायक रामविशुन सिंह उर्फ़ लोहिया जी , राजद अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के ज़िलाध्यक्ष विनोद चंद्रवंशी , ज़िप सदस्य शैलेंद्र कुमार, अरुण यादव, मदन सिंह, अनिल यादव, छात्र राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष आलोक रंजन, प्रवक्ता भीम यादव, प्रयाग चंद्रवंशी, कमलेश चंद्रवंशी, जितु चंद्रवंशी, पूर्व विवि अध्यक्ष रजनीश यादव, अनूप मौर्य, गांगुली यादव, मुन्ना सम्राट, अनुज यादव, मुकेश चंद्रवंशी, रवि रंजन चंद्रवंशी , गुडु यादव, शुभम कुशवाहा, रविंद्र यादव, समर चंद्रवंशी, चंदेश्वर सिंह सहित अन्य थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *