बेगूसराय/कौनैन अली

जिला पदाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा और पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार ने संयुक्त रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी अनुमंडल पदाधिकारियों, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों, अंचलाधिकारियों एवं थाना प्रभारियों के साथ मध निषेध एवं भूमि-विवाद से संबंधित मामलों की समीक्षा की.इस अवसर पर अपर समाहर्ता मो. बलागउद्दीन, प्रभारी पदाधिकारी विधि शाखा संजीत कुमार, प्रभारी पदाधिकारी राजस्व शाखा शशि कुमार, उत्पाद अधीक्षक अजय शंकर सहाय, जिला जन-संपर्क पदाधिकारी भुवन कुमार आदि मौजूद रहे.

अधिकारीद्वय ने सभी संबंधित पदाधिकारियों को मध निषेध के अंतर्गत देशी/विदेशी शराबों की जब्ती के साथ ही उसके ससमय विनष्टीकरण एवं थाना में अधिहरण के लिए लंबित वाहनों के संबंध में निर्देश देने के साथ-साथ जिले में भूमि विवाद से जुड़े मामलों के निष्पादन में प्रगति लाने का निर्देश दिया.इसी क्रम में उन्होंने शराबों के होम डिलीवरी से जुड़े मामलों को भी गंभीरता से लेने तथा इस कार्य से जुड़े व्यक्तियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया.भूमि-विवाद से जुड़े मामलों के निष्पादन हेतु सभी अंचलाधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को हर शनिवार जनता दरबार आयोजित करने के साथ-साथ इससे जुड़े मामलों के व्यापक विश्लेषण करने का निर्देश दिया गया.

जिला पदाधिकारी अरविंद कुमार वर्मा ने अनुमंडलवार भूमि-विवाद से जुड़े मामलों की अनुमंडलवार समीक्षा के क्रम में सभी अनुमंडल पदाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को जनता दरबार में आए मामलों के संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि भूमि विवाद के मामलों के ससमय निष्पादन के साथ ही ऐसे मामलों की गहन समीक्षा भी आवश्यक है.अतः जरूरी है कि मामलों के निष्पादन के क्रम में यह विश्लेषण करते हुए प्रतिवेदन तैयार किया जाए कि कितने मामले सरकारी भूमि के अतिक्रमण से संबंधित है, कितने मामले रैयती भूमि से संबद्ध है, किस थाना/अंचल में ज्यादा मामले हैं तथा इसके क्या कारण हैं, भूमि विवाद संबंधी कितने ऐसे मामले हैं, जिसमें क्रिमिनल घटनाएं हुई हैं आदि.उन्होंने कहा कि भूमि विवाद से जुड़े किसी मामले में यदि धारा-107 की उल्लंघन हुई हो तो संबंधित व्यक्तियों के विरुद्ध प्रावधानित शर्तों के अधीन कार्रवाई करना भी सुनिश्चित करें.इससे पूर्व जिला पदाधिकारी द्वारा विभिन्न अनुमंडलों में जनता दरबार में आए भूमि विवाद से जुड़े मामलों की समीक्षा की गई तथा बेगूसराय अनुमंडल में लंबित 59, बलिया में लंबित 143, मंझौल में लंबित 36, बखरी में लंबित 81 तथा तेघड़ा में लंबित 29 मामलों के निष्पादन का निर्देश दिया गया.

बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा थानावार विगत 15 दिनों में प्रतिवेदित कांडों, छापेमारी, शराब जब्ती, जब्त शराबों की विनष्टीकरण, थाना में अधिहरण हेतु लंबित वाहनों के संबंध में की गई कार्रवाई की समीक्षा की गई तथा सभी थाना प्रभारियों को अधिकाधिक छापेमारी कर शराबों की जब्ती में प्रगति लाने के साथ ही जब्त शराबों की विनष्टीकरण में भी गति लाने का निर्देश दिया गया.उन्होंने अगली बैठक यथा 15 जुलाई, 2021 से पूर्व 15 जून, 2021 तक जिले में जब्त शराबों के शत-प्रतिशत विनष्टीकरण हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत करने का निर्देश दिया.इसी क्रम में उन्होंने जिले में लंबित 53933.80 लीटर शराबों के विनष्टीकरण तथा विभिन्न थानों में अधिहरण हेतु लंबित 58 वाहनों के संबंध में प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया.पुलिस अधीक्षक ने शराबों के होम डिलीवरी से जुड़े मामलों के संबंध में भी सभी थाना प्रभारियों से पृच्छा की गई तथा निर्देशित किया गया कि सभी थाना प्रभारी यह सुनिश्चित करें कि इस प्रकार की कोई कृत्य उनके क्षेत्र में नहीं हो.यदि ऐसा कोई मामला संज्ञान में आता है तो तत्काल उस पर गंभीरता से कार्य करें एवं इस प्रकार के नेटवर्क को तोड़ने के लिए नियमित रूप से विशेष अभियान चलाना सुनिश्चित करते हुए इससे संबद्ध व्यक्तियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई भी करें.इससे पूर्व बताया गया कि विगत एक पखवाड़ा में विभिन्न थानों द्वारा कुल 888 स्थलों पर छापेमारी की गई तथा इस दौरान 4913.84 लीटर देशी/विदेशी शराबों की जब्ती के साथ ही 52 व्यक्तियों को गिरफ्तार भी किया गया। इस अवधि के दौरान कुल 10503.44 लीटर शराबों का विनष्टीकरण भी किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *