बेगूसराय/कौनैन

उप विकास आयुक्त सुशांत कुमार की अध्यक्षता में आज जल-जीवन-हरियाली अभियान के अंतर्गत जिले में किए जा रहे कार्यों की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा की गई.इस अवसर पर जिला पंचायती राज पदाधिकारी मंजू प्रसाद के साथ-साथ अन्य सभी संबंधित पदाधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से बैठक में हिस्सा लिया.

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि “जल-जीवन -हरियाली” अभियान एक महत्वाकांक्षी अभियान है, अतः इस अभियान के अंतर्गत विभिन्न अवयवों के लंबित योजनाओं को प्राथमिकता में रखते हुए अविलंब पूर्ण करना सुनिश्चित करें.इसी क्रम में उन्होंने सभी पूर्ण योजनाओं के संबंध में आवश्यक प्रतिवेदन निर्धारित पोर्टल पर अपलोड करने का भी निर्देश दिया.इसके साथ ही उन्होंने सभी मनरेगा के सभी कार्यक्रम पदाधिकारियों को जल-जीवन -हरियाली अभियान अंतर्गत सर्वेक्षित जल संरचनाओं विशेष तौर पर तालाब/पोखर/आहर/पाइन आदि के अद्यतन स्थिति को स्पष्ट करने का निर्देश देते हुए कहा कि 15 जुलाई, 2021 तक जल-जीवन- हरियाली अभियान से संबंधित पोर्टल को फ्रीज कर दिया जाएगा तथा ऐसे होने के उपरांत तालाब पोखर आहर पाइन आदि से संबंधित डाटा में किसी भी प्रकार का परिवर्तन संभव नहीं होगा.अतः वर्तमान में पोर्टल पर प्रदर्शित डाटा की प्रमाणिकता स्पष्ट करना सुनिश्चित करें.

बैठक के दौरान तालाब/पोखर के जीर्णोद्धार से संबंधित कार्यों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि लघु जल संसाधन विभाग के तहत लक्षित कुल 43 योजनाओं में 29 योजनाओं का कार्य पूर्ण किया जा चुका है.इसी प्रकार मनरेगा के तहत लक्षित 126 योजनाओं का कार्य पूर्ण किया जा चुका है तथा 88 योजनाओं के तहत जीर्णोद्धार कार्य किए जा रहे हैं.नगर निगम, बेगूसराय द्वारा लक्ष्य की प्राप्ति कर ली गई है जबकि अन्य नगर निकायों में लंबित योजनाओं को अविलंब पूर्ण करने का निर्देश दिया गया.सार्वजनिक कुओं के जीर्णोद्वार से संबंधित योजनाओं की समीक्षा के क्रम में बताया गया कि पीएचईडी द्वारा लक्षित 230 योजनाएं पूर्ण की जा चुकी है.पंचायती राज विभाग के लक्ष्य 1455 योजनाओं में से 173 योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है जिसमें से वर्तमान में 96 योजनाओं का कार्य पूर्ण किया जा चुका है.इसी प्रकार नगर निगम, बेगूसराय के लिए लक्षित कुल 245 योजनाओं में से 218, नगर परिषद्, बीहट के लिए लक्षित कुल 144 योजनाओं में से 91, नगर पंचायत, बखरी के लिए लक्षित कुल 49 योजनाओं में से 48, नगर पंचायत, तेघड़ा के लिए लक्षित कुल 114 योजनाओं में से 100 एवं नगर पंचायत, बलिया के लिए लक्षित कुल 23 योजनाओं में से 23 योजनाएं पूर्ण की जा चुकी है.सोकपिट निर्माण की समीक्षा के दौरान बताया गया कि मनरेगा के तहत लक्षित 21621 योजनाओं में से अब तक 5869 योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है जिसमें से 3599 योजनाओं का कार्य पूर्ण किया जा चुका है जबकि पंचायती राज विभाग के तहत लक्षित 1145 योजनाओं में 540 योजनाओं का क्रियान्वन किया गया है जिसमें से 531 योजनाओं को पूर्ण कर लिया गया है.इसके अतिरिक्त नगर निगम बेगूसराय, नगर परिषद्, बीहट, नगर पंचायत तेघड़ा, नगर पंचायत, बखरी एवं नगर पंचायत, बलिया द्वारा सोकपिट निर्माण से संबंधित लक्ष्यों को पूर्ण कर लिया गया है.नए जल स्त्रोतों के सृजन (निजी खेत पोखर) से संबंधित मामलों की समीक्षा के दौरान मनरेगा के तहत लंबित 145 योजनाओं तथा कृषि विभाग के तहत अब तक 10 योजनाओं को पूर्ण करने का निर्देश दिया गया.इस योजना के तहत पशु एवं मतस्य विभाग द्वारा सभी 13 योजनाओं को पूर्ण कर लिया गया है.छत वर्षा जल संचयन की समीक्षा के क्रम में बताया गया कि भवन प्रमंडल शिक्षा विभाग, नगर निगम, बेगूसराय नगर परिषद, बीहट द्वारा निर्धारित लक्ष्य को पूर्ण कर लिया गया है.मनरेगा के तहत बनाए जाने वाले कुल 69 संरचनाओं में लंबित 4 संरचनाओं तथा स्वास्थ्य विभाग में लंबित 01 संरचना के कार्य को भी अविलंब पूर्ण करने का निर्देश दिया गया.जैविक खेती एवं टपकन सिंचाई से संबंधित मामलों की भी समीक्षा की गई तथा प्रगति लाने हेतु निर्देशित किया गया.इस दौरान जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा प्रतिवेदित किया गया कि जिले में जैविक खेती के तहत कुल 1663.09 एकड़ तथा टपकन सिंचाई के तहत 516.02 एकड़ आच्छादित किया जा चुका है.इसी क्रम में सौर ऊर्जा एवं बिजली विपत्र में तुलनात्मक रूप से आई कमी के संबंध में भी जानकारी दी गई तथा बताया गया कि बिजली विपत्र में मई, 2020 की अपेक्षा मई, 2021 में 2.8 प्रतिशत की कमी आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *