मधुबनी/करीमुल्लाह

NFIW और उनके सहयोगी संगठन बिहार महिला समाज ने देश स्तर पर सभी राज्य के राजधानी सहित सभी प्रमंडल, अनुमंडल एवं प्रखंड मुख्यालयों पर महिलाओं को लोकसभा,विधानसभा में 33% आरक्षण लागू करने को लेकर धरना-प्रदर्शन किया.मधुबनी जिला के कलुआही प्रखंड अंतर्गत बेलाही गांव में सैकड़ों महिलाओंस की उपस्थिति में बिहार महिला समाज के महासचिव राजश्री किरण ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि लगभग 25-30 वर्षों से हिंदुस्तान की सभी प्रमुख महिला संगठनों एवं राजनीतिक महिला कार्यकर्ताओं के द्वारा महिलाओं के 33 % आरक्षण के मुद्दे पर न जाने हजारों आंदोलन किये गये हैं.

एक बार 33 % आरक्षण राज्यसभा से पास भी हुआ लेकिन पुरुष मानसिकता सभी राजनीतिक पार्टियों पर हावी है.वह कभी नहीं चाहती कि आरक्षण लागू हो.बहनों अब वह समय आ गया है.हम तमाम महिला संगठन सभी राजनीतिक पार्टी की महिला एकजुट होकर व्यक्तिगत हित को छोड़कर जब तक सड़क से जेल तक करो या मरो के रूप में आंदोलन नहीं करेंगे तब तक यह 33 परसेंट आरक्षण लागू नहीं होगा.उन्होंने कहा लक्ष्य कोई बड़ा नहीं,हारा वही जो लड़ा नहीं.संघर्ष जितना कठिन होगा जीत उतनी ही शानदार होगी.उन्होंने कहा यह गांठ बांधना होगा एकजुट होकर अपना सब कुछ त्याग एक बड़े आंदोलन करके आने वाली पीढ़ियों को कुछ मदद मिल सके. शांति देवी,विमला देवी, शिव कुमारी देव कला देवी,रीता देवी सहित दर्जनों महिलाओं ने संबोधित किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *