गया/मंथन डेस्क

सोमवार को लोजपा के संस्थापक पूर्व केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान की जयंती पर सांसद चिराग़ पासवान के नेतृत्व में हाजीपुर से आशीर्वाद यात्रा के आग़ाज़ पर गया की धमक भी साफ दिखाई पड़ रही है.हाल में चिराग़ पासवान का दामन थामने वाले धीरेंद्र उर्फ धीरु शर्मा ने इसके लिए पूरी ताक़त झोंक दी है.25 गाड़ियों के क़ाफ़िला के साथ आज ही उनकी टीम पटना के लिए रवाना हो जायेगी.

धीरु शर्मा ने बताया कि आशीर्वाद यात्रा को लेकर पूरे बिहार में उत्साह है.रामबिलास पासवान जी भारतीय राजनीति में दलितों के सबसे बड़े नेता रहे हैं.उनकी विरासत सम्भालने वाले चिराग़ पासवान का चेहरा भी बिहार की सियासत में उतना ही बड़ा है.यही वजह है कि बहुत सारे लोग और हर समाज के लोग चिराग़ पासवान के साथ जुड़ने को व्याकुल हैं.वह कहते हैं कि हम तो उस वक़्त चिराग़ पासवान के नेतृत्व को स्वीकार किया,पार्टी की सदस्यता ली,जब लोग कह रहे थे झोंपड़ी डूबने वाली है.वह कहते हैं कि जहां भी जुड़ते हैं,सीना तान कर जुड़ जाते हैं.आज उनके लोजपा के साथ जुड़ते ही मगध में एक नया उत्साह देखने को मिल रहा है.

विरोधी गुट द्वारा भी रामबिलास पासवान की जयंती मनाने के सवाल पर धीरु शर्मा कहते हैं कि यह सिर्फ दिखावा है.यह कैसी जयंती है एक तरफ भतीजा की हत्या कर रहे और दूसरी तरफ भाई की जयंती मना रहे.उनके गुट के अन्य नेताओं की मानसिकता भी ऐसी ही है.वह कहते हैं कि पशुपति पारस गुट के पार्टी से हट जाने से लोग खुश हैं.चिराग़ सुलझे और समझदार नेता हैं.इनसे लोग जुड़ना पसंद कर रहे हैं.कल चिराग़ पासवान की असल ताक़त दिखेगी और विरोधी गुट हवा हो जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *