बेगूसराय/कौनैन

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी बेगूसराय जिला ने अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ओम प्रकाश के द्वारा बेगुनाह सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस प्रताड़ना एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार कम्युनिस्ट कार्यकर्ताओं के द्वारा विरोध किये जाने के फलस्वरूप निराधार कांड दर्ज करवाना एवं टीकाकरण करवाने के लिए किए जा रहे छात्रों को अंचलाधिकारी तेघड़ा द्वारा गंभीर रूप से घायल करने के बावजूद छात्रों के अभिभावकों द्वारा दायर
प्राथमिकी दर्ज नहीं करने एवं भ्रष्टाचारियों तथा रिश्वतखोरों के विरोध में जिला पार्टी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ओम प्रकाश के निलंबन की मांग पर जोर डालने के लिए धरना देगी यह संयुक्त बयान जिला मंत्री व पूर्व विधायक अवधेश
कुमार राय, पूर्व सांसद शत्रुघ्न प्रसाद सिंह, पूर्व विधायक राजेंद्र प्रसाद सिंह,विधायक राम रतन सिंह ने जारी किया है और मुख्यमंत्री, गृह सचिव एवं पुलिस महानिदेशक से पार्टी का प्रतिनिधिमंडल
मिलकर जिले में व्याप्त अपराध एवं भ्रष्टाचार को संरक्षण देने वाले पुलिस पदाधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करेगी।

तेघरा के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के सहयोग से अपने बचाव में अंचलाधिकारी तेघड़ा के द्वारा फुलवरियाकांड संख्या 75/21 एवं तेघड़ा थाना कांड संख्या 156/21 में टीकाकरण करवाके लौटने के बाद प्रमाण दिखाने केबावजूद छात्रों के विरुद्ध दोनों कांड दर्ज करवाना घोर अपराध, मानवाधिकार का उल्लंघन एवं टीकाकरण जैसे राष्ट्रीय अभियान को विफल करवाने की पूरी साजिश है।

उसी प्रकार बरौनी अंचल के पिपरा पंचायत गांव मालती के तालाब सौंदर्यीकरण के कार्य में प्राक्कलन केविरुद्ध कार्य को माननीय विधायक राम रतन सिंह ने बरौनी प्रखंड विकास पदाधिकारी को बिना जांच करवाएं काम तत्काल रोके जाने के निर्देश देने के बाद उसका न केवल उल्लंघन किया, बल्कि उन्हें अपमानित भी किया और अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी तेघड़ा के निर्देश पर गांव के सामाजिक कम्युनिस्ट कार्यकर्ताओं के विरुद्ध एस.सी/एस.टी
अधिनियम के तहत पंचायत सचिव के द्वारा फुलवरिया कांड संख्या 118/21 मुकदमा दर्ज करवाना यह प्रमाणित करता है कि तेघरा के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ओम प्रकाश भ्रष्टाचारियों का संरक्षण कर रहे हैं।

उसी तरह बछवाड़ा कांड संख्या 134/21 में रिश्वत की राशि को लौटाते हुए मोबाइल में वीडियो जारी करने के अभियोग में बिहारी यादव एवं रिश्वत देने वाले महेश राय के विरुद्ध एस.सी/एस.टी कांड दर्ज करवाया, जबकि जिलाधिकारी बेगूसराय ने रिश्वत लेने एवं देने वाले के विरुद्ध मोबाइल वीडियो वायरल के आधार पर केस करने का आदेश अंचलाधिकारी को दिया जो बछवाड़ा कांड संख्या 133/21 है, परंतु इसके बावजूद महेश राय के साथ-ही-साथ बिहारी यादव के विरुद्ध कांड दर्ज किया गया एवं बेगुनाह बिहारी यादव की गिरफ्तारी के लिए अनुमंडल पदाधिकारी ओम प्रकाश के निर्देश पर छापेमारी चल रही है। घूस देने वाला महेश राम को जेल भेज देना एवं कर्मचारियों को खुलेआम सड़क पर छुट्टा छोड़ देना एक अपराधिक कृत्य है।

उपर्युक्त कांडों के संबंध में मुख्यमंत्री सहित स्थानीय तमाम प्रशासनिक पदाधिकारी को करने के बावजूद किसी प्रकार की कार्यवाही नही होने के कारण अपराध एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ पूरे जिले में कार्यकर्ताओं के बीच आक्रोश व्याप्त है। इसलिए दिनांक 20 सितंबर, 21 सितंबर एवं 22 सितंबर 2021 को तीन दिवसीय 24 घंटे का जत्थाबार धरना तेघड़ा अनुमंडल मुख्यालय में देने का निर्णय लिया है। यदि अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के विरुद्ध तत्काल निलंबन की कार्रवाई तथा फुलवरिया कांड संख्या 118/21 एवं 75/21, बछवाड़ा कोड संख्या 134/21 एवं तेघड़ा कांड संख्या 156/21 वापस नहीं किया, तो पार्टी आमरण अनशन सहित तीव्रतर कार्रवाई करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *