बेगूसराय/कौनैन

बेगूसराय जिले से एके-47 बरामदगी मामले में एक बड़ी महत्वपूर्ण जानकारी सामने आ ही गई.AK-47 बरामदगी के बाद कल तक जिस सफेदपोश नेता के कनेक्शन की बात सामने आ रही थी. अब उसकी पहचान उजागर हो गई है. बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार ने खुद जानकारी देते हुए एक बड़ा खुलासा किया कर दिया है. जिस 188 जिंदा गोलियों और दो लोडेड मैगजीन के साथ जिस एके-47 को पुलिस ने बरामद किया, वो AK-47 किसी और का नहीं बल्कि बेगूसराय के भाजपा विधायक कुंदन सिंह का फुफेरा भाई है.जबकि बेगूसराय के मेयर सह भाजपा के वरिष्ठ नेता उपेंद्र सिंह का भगना है.

मंगलवार को 11:30 बजे बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया को यह जानकारी दी कि बीते 19 सितंबर की रात में बेगूसराय के नगर थाना क्षेत्र के कपसिया मोहल्ले में छापेमारी कर एक एके 47 राइफल बरामद किया गया था. इसके साथ 188 जिंदा गोलियां और AK-47 की 2 लोडेड मैगजीन भी बरामद की गई थी. जिस शख्स के घर से इसकी बरामदगी हुई, उसका नाम मंजेश उर्फ़ बंटी उर्फ़ बड़े है. पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार किया कर लिया है.

पुलिस की पूछतछ में मंजेश उर्फ़ बंटी उर्फ़ बड़े ने खुलासा किया कि वह बेगूसराय सीट से भाजपा विधायक कुंदन सिंह के फुफेरा भाई नंदन चौधरी का ड्राइवर है. एसपी अवकाश कुमार ने मीडिया के सामने यह साफ़ कर दिया कि यह अत्याधुनिक हथियार AK-47 बीजेपी विधायक कुंदन सिंह के ममेरे भाई नंदन चौधरी का है, जैसा कि मंजेश उर्फ़ बंटी उर्फ़ बड़े ने पुलिस को ये बताया है.

जानकारी के मुताबिक बेगूसराय सीट से भाजपा विधायक कुंदन सिंह बेगूसराय के मेयर उपेंद्र सिंह के पुत्र हैं. उपेंद्र सिंह और उनके भांजे नंदन चौधरी से काफी बनती हैं. कई पारिवारिक मौके पर दोनों का मिलना जुलना भी लगा रहता है. ऐसा खुद अपराधी ने पुलिस को बताया है. हालांकि भांजे नंदन चौधरी का AK-47 पकड़े जाने के मामले में उन्होंने किनारा कर लिया और कहा कि उनसे इसका कोई भी संबंध नहीं है. इस हथियार के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है. हालांकि बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार का साफ़-साफ़ कहना है कि मंजेश उर्फ़ बंटी उर्फ़ बड़े के मुताबिक एक साल पहले ही नंदन चौधरी ने उसे AK-47 और भारी मात्रा में जिंदा गोलियां रखने को दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *