पटना/सेराज अनवर

राजद ने सीवान के पार्टी सांसद रहे मोहम्मद शहाबुद्दीन समर्थकों को और नाराज़ कर दिया है.राजद के संस्थापकों में से एक अपने दिवंगत सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को भूल गयी पार्टी.रजत जयंती पर राजद के बैनर-पोस्टर में शहाबुद्दीन की कहीं तस्वीर नहीं.शहाबुद्दीन समर्थकों में भारी नाराज़गी,सोशल मीडिया पर मना रहे काला दिवस.

ओसामा के साथ सीवान गयी टीम में इज़हार अहमद,शगुफ़्ता,सीमा व अन्य

ग़ौरतलब है कि शहाबुद्दीन समर्थक पहले से ही तेजस्वी यादव से नाराज़ है कि शहाबुद्दीन की मौत के बाद परिवार के लोगों से अबतक नहीं मिले हैं.शहाबुद्दीन की मौत की न्यायिक जांच की मांग की जा रही है मगर राजद चुप्पी साधे हुआ है.पार्टी की रजत जयंती समारोह का उद्घाटन करते हुए लालू प्रसाद ने पूर्व केंद्रीय मंत्री रामबिलास यादव को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.पासवान की आज जयंती है.जबकि राजद के मज़बूत स्तंभ रहे पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को पार्टी ने हाल में खोया है.बावजूद इसके उनके परिवार या शहाबुद्दीन के प्रति पार्टी को कोई सहानुभूति नहीं है.

सीवान से लौटे पूर्व विधायक इज़हार अहमद कहते हैं कि शहाबुद्दीन साहब को भुला पाना आसान नहीं है.वह बड़े क़द के नेता थे,उनका जनाधार है.पूरे देश से यूं ही राजनीतिक दल के लोग,मुस्लिम नेता सीवान नहीं पहुंच रहे.यह शहाबुद्दीन साहब के परिवार से मुहब्बत और लगाव का इज़हार है.हमलोग भी कल सीवान शहाबुद्दीन साहब को खिराज ए अक़ीदत पेश करने उनके घर गये थे और उनके बेटे ओसामा को हौसला देने कि वह अकेले नहीं हैं.

उमैर खान,अख़लाक़ अहमद व अन्य

अख़लाक़ अहमद,उमैर खान उर्फ टिक्का खान,ज़फर आलम,महताब खान,शगुफ़्ता परवीन,सीमा बहुत सारे लोग मौजूद थे.क्या बात हुई इसका खुलासा इज़हार अहमद नहीं कर रहे सिर्फ इतना कहते हैं कि आंख के आंसू जब तेज़ाब बन जाते हें तो इतिहास के पन्नों को चीर डालती है और एक नया इतिहास जन्म लेता है.हक़ मांगने से नहीं,छीन कर लिया जाता है.सीवान से बिहार में सियासत करवट लेगी,उनका कहना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *