Patna:इस सफलता से जमा खान फूले नहीं समा रहे हैं. जमा खान ने कहा कि सफल उम्मीदवारों में बड़ी संख्या महिला उम्मीदवारों की है, जिससे अल्पसंख्यक समाज में एक नई आशा एवं विश्वास का संचार होगा. वो कहते हैं कि सफलता के लिए पैसा और जगह मायने नहीं रखता. सही दिशा निर्देश, नीयत और नीति जरूरी होती है.हमारी सरकार की अल्पसंख्यक सरकार के प्रति नीयत और नीति साफ है. राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी समावेशी विकास तथा न्याय के साथ विकास की अवधारणा को चरितार्थ करने के उद्देश्य से अल्पसंख्यक कल्याण विभाग बिहार सरकार द्वारा राज्य अल्पसंख्यक कोचिंग योजनांतर्गत अल्पसंख्यक समुदाय के बेरोजगार युवाओं के लिए कोचिंग कार्यक्रम का शुभारंभ 2010 में हुआ था.

आदिल बिलाल अपना अनुभव सुनाते

हज भवन पटना में जश्न का माहौल है. गुरुवार को यहां मेले जैसा दृश्य था. सफल प्रतियोगियों के साथ अभिभावक भी इस खुशनुमा मंजर को अपनी आंखों में कैद करने आये थे. कामयाबी ही इतनी बड़ी है कि सभी खुशी से झूम रहे हैं .बिहार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान हज भवन कोचिंग की शानदार सफलता पर कामयाब बच्चे-बच्चियों को बधाई देने खुद पहुंचे. उनके साथ एक दर्जन बड़े अधिकारी भी इस समारोह के गवाह बनने पहुंचे थे. मीडिया का हुजूम था. हज का मौसम है. मगर हज भवन आज तालीम को लेकर गुलजार रहा. बिहार के कोने-कोने से बीपीएससी 64वीं संयुक्त परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को सम्मान और शाबाशी देने के लिए यहां बुलाया गया था. उनके भोजन का प्रबंध भी हज भवन द्वारा किया गया था. खूब सीख दी गयी. सफल प्रतियोगियों ने भी संघर्ष की दास्तान सुनाकर औरों को प्रेरित किया. एक चिकन विक्रेता की बेटी ने समुदाय और परिवार को अपनी कामयाबी से गौरवान्वित किया, तो एक घरेलू महिला ने भी झंडा गाड़ कर उन महिलाओं के लिए मिसाल बन गयी, जो अपनी किस्मत पर रोती हैं. सनद रहे कि हज भवन की निगरानी में 51 छात्र-छात्राओं ने अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया है.

रजिया सुल्ताना अपनी कामयाबी की दास्तान सुनाती

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री ने हज भवन कोचिंग में रहकर पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं को बधाई दी और कहा कि वे सर्विस में जाकर ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठ अफसर की मिसाल बनें. उन्होंने सफल उम्मीदवारों से कहा कि वे समय-समय पर यहां आकर कोचिंग पानेवाले छात्रों की हौसलाआफजाई करते रहें.

प्रेस वार्ता में जमा खान ने रियासती हज कमेटी के सीईओ मोहम्मद राशिद हुसैन को दिल से धन्यवाद किया और कहा कि आपके सम्मान के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. उन्होंने सभी पदाधिकारियों और यहां शिक्षण से जुड़े सभी एक्सपर्ट को भी बधाई दी.प्रेस वार्ता में रियासती हज कमिटी के चेयरमैन हाफिज इलियास उर्फ सोनू बाबु,सीईओ मोहम्मद राशिद हुसैन, बिहार राज्य अल्पसंख्यक वित्तीय निगम के निदेशक मोहम्मद मोइज उद्दीन, फैजी अहमद, मेजर इकबाल हैदर खान आदि मौजूद थे.

सफल अभ्यर्थियों के साथ ज़मा खान

हज भवन कोचिंग की विशेषता है कि यहां देश भर के प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों के शिक्षक आकर उम्मीदवारों का मार्गदर्शन करते हैं। सभी पाठ्यक्रम निश्चित समय-सीमा में पूरा किये जाते हैं. यहां 24 घंटे लाइब्रेरी की सुविधा है. बिहार सरकार के अल्पसंख्यक विभाग की नोडल एजेंसी मौलाना मजहरूल हक अरबी एवं फारसी विवि है. क्रियान्वयन एजेंसी हज भवन कोचिंग एवं मार्गदर्शन कोषांग है, जहां विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए निशुल्क कोचिंग दी जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *