New Delhi:एलजेपी में मचा घमासान के बीच आज चिराग पासवान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि संसद में पार्टी का नेता कौन होगा, ये राष्ट्रीय अध्यक्ष ही तय कर सकता है.चिराग पासवान ने कहा कि बिहार चुनाव के दौरान, उससे पहले भी, उसके बाद भी कुछ लोगों द्वारा और खास तौर पर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) द्वारा हमारी पार्टी को तोड़ने का प्रयास निरंतर किया जा रहा था.

चिराग पासवान ने कहा कि बिहार चुनाव में हमें 6 प्रतिशत मत मिला और 25 लाख वोट भी. मैं मानता हूं कि अगर हम बीजेपी और जेडीयू के साथ चुनाव लड़ते तो लोकसभा चुनाव जैसा ही परिणाम आता, लेकिन मुझे नीतीश कुमार के सामने नतमस्तक होना पड़ता. विधानसभा चुनाव के दौरान हमारी पार्टी के कुछ नेता, जिसमें मेरे चाचा भी शामिल थे, अपनी अपनी निजी लड़ाई लड़ रहे थे न कि पार्टी की. उन्होंने कहा कि दुख मुझे इस बात का हुआ कि जब मैं बीमार हुआ तो ऐसा हुआ. मैं अभी भी पूरी तरह ठीक नहीं हुआ हूं. मैंने अंत तक ये प्रयास किया कि परिवार नहीं टूटे.

मेरी पार्टी के पूरे समर्थन के साथ मैने चुनाव लड़ा. कुछ लोग संघर्ष के रास्ते पर चलने के लिए तैयार नहीं थे. मेरे चाचा ने खुद चुनाव प्रचार में कोई भूमिका नहीं निभाई. मेरी पार्टी के कई और सांसद अपने व्यक्तिगत चुनाव में व्यस्त थे.उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में जेडीयू का हाथ, डिवाइड करना उनकी फितरत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *